ग्राम प्रधान की शिकायत कैसे करें | Gram pradhan ki shikayat kaise karen

ग्राम प्रधान की जांच कैसे करवाएं | Gram pradhan ki shikayat kaise karen | सरपंच की शिकायत कैसे करे | ग्राम प्रधान की शिकायत कैसे करें | Sarpanch ki Shikayat kaise karen | ग्राम प्रधान की जांच कैसे करवाएं | ग्राम प्रधान के कार्य लिस्ट 2022 | Sarpanch ke khilaf RTI Kaise lagaen

Gram pradhan ki shikayat kaise karen
Gram pradhan ki shikayat kaise karen

ग्राम प्रधान की शिकायत कैसे करे - 2022

आज के इस post के माद्यम से gram pradhan ki shikayat kaise karen ( ग्राम प्रधान की शिकायत कैसे करें) सरपंच की शिकायत कैसे करते है ( Sarpanch ki Shikayat kaise karen ) आप ऑनलाइन या ऑफलाइन शिकायत कैसे दर्ज करवा सकते हैं ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत या RTI कैसे लगाये  इन सभी की जानकारी आपको इस पोस्ट के माध्यम से मिल जाएगी

सरपंच की शिकायत कैसे करे

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको आपके ग्राम प्रधान या सरपंच की शिकायत कैसे कर सकते हैं इसके बारे में हम आपको बताने वाले हैं यदि आप अपने ग्राम प्रधान यानी कि सरपंच से परेशान हैं या वह आपका कोई भी कार्य नहीं कर रहा है या कार्य करने का या किसी योजना में नाम जोड़ने के लिए रिश्वत मांग रहा है या आपका राशन कार्ड जॉब कार्ड या प्रधानमंत्री आवास योजना या नरेगा में नाम जोड़ने से मना कर रहा है तो आप अपने सरपंच या ग्राम प्रधान की शिकायत दर्ज करवा सकते हैं


यदि आप अपने ग्राम पंचायत के Sarpanch ki Shikayat kaise karen यह जानना चाहते हैं तो आप अपने Sarpanch ki Shikayat 2 तरीकों से कर सकते हैं जिसमें पहला तरीका ऑनलाइन होता है वह दूसरा तरीका ऑफलाइन होता है यह दोनों तरीके बेहद आसान है और आप ऑनलाइन तरीके से घर बैठेअपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकते हैं


तो हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको दोनों तरीके बताने वाले हैं और दोनों तरीकों में आपका नाम कहीं पर नहीं आएगा और यह पूर्ण तरीके से लेकर होता है तो अगर आप चाहते हैं कि आपका नाम वहां पर आए तो वह भी आप कर सकते हैं


Gram pradhan ki shikayat kaise karen


इस जानकारी के माध्यम से हमने इस पेज में कहीं पर सरपंच शब्द का प्रयोग किया है तो कहीं पर ग्राम प्रधान या मुखिया शब्द का प्रयोग किया है तो यह तीनों शब्द एक ही हैं क्योंकि सरपंच को ही ग्राम प्रधान कहते हैं और ग्राम प्रधान को ही मुखिया कहते हैं और मुखिया को ही सरपंच कहते हैं तो अगर हम कहीं पर ग्राम प्रधान शब्द का प्रयोग करते हैं तो इसका मतलब यह है कि वह सरपंच शब्द है या फिर गांव का मुखिया शब्द है तो आपको इसमें किसी भी प्रकार से परेशान नहीं होना है


ग्राम प्रधान की शिकायत करने का कारण


यदि आप अपने ग्राम पंचायत की ग्राम प्रधान या सरपंच की शिकायत करना चाहते हैं तो आपके पास एक ठोस कारण होना अति आवश्यक है क्योंकि बिना कारण से आप किसी भी व्यक्ति विशेष या सरकारी कर्मचारी पर सीधी उंगली नहीं उठा सकते और आपके पास अगर उसके खिलाफ कोई भी सबूत नहीं है


तो आप उसके खिलाफ किसी भी प्रकार से शिकायत दर्ज नहीं कर सकते हैं तो अगर आप शिकायत दर्ज करवाना चाहते हैं तो आपके पास कोई भी एक ऐसा proof या evidence होना भी जरूरी है यदि आपके पास किसी प्रकार का एविडेंस या सबूत नहीं है तो आप शिकायत दर्ज नहीं करवा सकते है


यह भी पढ़े


सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के नियम


सरपंच 5 वर्ष में कितना कमाता है जानिये 


और यदि आप बिना किसी सबूत या एविडेंस की शिकायत दर्ज करवाते हैं तो आप के खिलाफ भी सरकारी कार्रवाई हो सकती हैं तो आपको इन सभी बातों का ध्यान रखना है कि आपके पास उस सरपंच किया ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत करने से पहले आप किस कारण से शिकायत कर रहे हैं


क्यों कर रहे हैं और किस लिए करें इन सभी शब्दों का जवाब होना बेहद जरूरी है क्योंकि बाद में बड़े अधिकारी जो होते हैं वह इन सभी बातों को लेकर आप से मिल सकते हैं इसमें आपका कहीं पर भी नाम नहीं आएगा पर फिर भी आपको इन सभी बातों का ध्यान रखना है


सरपंच की ऑनलाइन शिकायत


यदि आप अपनी ग्राम पंचायत की सरपंच या ग्राम प्रधान की शिकायत किसी भी कारण से ऑनलाइन माध्यम से करवाना चाहते हैं कि यह सभी राज्य में एक समान होता है पर सभी राज्य की वेबसाइट ऑनलाइन शिकायत को लेकर अलग-अलग होती हैं तो हम कोशिश करेंगे कि आपको सभी राज्यों की ऑनलाइन शिकायत वेबसाइट प्रोवाइड करवा सके


जिससे आपको घर बैठे सरपंच या ग्राम प्रधान की शिकायत करने में आसानी हो सके और आपको बता दें कि इन सभी ऑनलाइन शिकायत की सरकारी वेबसाइट पर ओटीपी वेरीफिकेशन एक महत्वपूर्ण बिंदु है तो इसको भी आपको पूरा करना बेहद जरूरी है


यदि आप राजस्थान में निवास करते हैं तो आपको राजस्थान संपर्क नामक सरकारी वेबसाइट पर किसी भी सरकारी कार्यालय या ग्राम पंचायत के सरपंच सचिव या ग्राम विकास अधिकारी के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकते हैं इसी प्रकार मध्य प्रदेश ग्राम पंचायत के सरपंच या ग्राम प्रधान की शिकायत करवाना चाहते हैं तो आप CM helpline पर अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज करवा सकते हैं इसमें आपको एक भी रुपए देने की आवश्यकता नहीं है


ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत या RTI कैसे लगाये 


यदि आप अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ आर.टी.आई.अधिनियम लगाकर भी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं पर यह प्रोसेस कुछ थोड़ा लंबा हो सकता है पर आपको इसमें कई सबूत भी देखने को मिल सकते हैं जैसे सरपंच के द्वारा नाली निर्माण किया गया हैं कितना कार्य किया गया है


कितना कार्य का पैसा आया बजट आया है कितना खर्च किया गया है किसको यह कॉन्ट्रैक्ट मिला था और किसके द्वारा कितना पर्सेंट हिस्सा लिया गए हैं इन सभी प्रकार की जानकारी आप ले सकते हैं


अगर आप यह सोच रहे हैं कि आखिर में अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ आरटीआई कैसे लगा सकता हूं तो आप सही सोच रहे हैं तो इसको पहले आपको समझना है कि आप आखिरकर आरटीआई अधिनियम जो होता है वह क्यों और किस कारण से लगा रहे हैं क्योंकि बिना वजह आप किसी भी व्यक्ति विशेष पर आरोप नहीं लगा सकते हैं और आरटीआई एक बड़ा आरोप माना जा सकता है तो आपको आरटीआई लगाने से पहले नीचे बताए गई बिंदु को जरूर पढ़ना चाहिए


  1. सरपंच के द्वारा यदि आपको किसी भी योजना की जानकारी अगर नहीं दी जाती हैं या आपको किसी भी योजना का लाभ लेने से रोका जाता है तो आप उस सरपंच के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकते हैं और उस सरपंच के खिलाफ आरटीआई लगा सकते हैं

  2. यदि आप अपने ग्राम पंचायत के बजट की जानकारी देखना चाहते हैं और आप अपने सचिव या फिर ग्राम पंचायत सरपंच या ग्राम प्रधान को यह कहते हैं कि मुझे बजट जुड़ी जानकारी चाहिए और वह मना कर देता है कि मेरे पास कोई किसी प्रकार की जानकारी नहीं है तो आप आरटीआई नियम का प्रयोग करके यह सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और इसमें आपको कोई भी किसी भी प्रकार का खर्चा भी नहीं आता है

  3.  मान लीजिए आपके घर के पास या आपके गांव में कहीं पर कोई योजना को लेकर जैसे सड़क आई हैं और वहां पर सड़क नहीं बनी है पर सरकारी बजट या ग्राम पंचायत बजट में वह सड़क बनी हुई बताई जाती हैं तो भी आप अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा सकते हैं 


Gram pradhan ke khilaf RTI kaise karen


यदि आप अपने gram pradhan ke khilaf RTI लगाना चाहते हैं तो भारत के सभी राज्य में RTI कि एक ही वेबसाइट हैं  जिस पर आप अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ आरटीआई लगा सकते हैं तो आपको अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ आरटीआई लगाने के लिए https://rtionline.gov.in/ पर जाना होगा और आप घर बैठे ही RTI लगा सकते हैं


परंतु आपको यह जानना बेहद जरूरी है कि आरटीआई का समय जो होता है वह 15 से 30 दिन क्या होता है और आप यह सोच रहे हैं कि मैं जो शिकायत कर रहा हूं उसका निराकरण 1 दिन या 2 दिन में हो जाए तो यह संभव नहीं है कम से कम आपको 30 दिन का समय शिकायत का समाधान के लिए देना होगा


ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत नंबर


अगर आप अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत नंबर ढूंढ रहे हैं तो आज हम आपको कुछ गिने-चुने राज्य के ग्राम प्रधान या सरपंच के खिलाफ शिकायत नंबर से कैसे कंप्लेंट दर्ज करवा सकते हैं इसके बारे में जानकारी बताने वाले हैं तो आप इस पोस्ट को अंत तक जरूर पड़े


यदि आप यह सोच रहे हैं कि आप सभी राज्य में फोन कॉल या शिकायत नंबर से ही अपनी ग्राम प्रधान की शिकायत कर सकते हैं तो यह आपकी गलतफहमी में है क्योंकि ज्यादातर राज्यों में यह सुविधा उपलब्ध नहीं है तो आप शिकायत ऐसे राज्यों में नहीं कर सकते हैं यदि आप राजस्थान से हैं तो आप 181 नंबर पर फोन करके अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं



और अगर आप उत्तर प्रदेश यानी कि यूपी से हैं तो आप 1076 पर कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैंअगर आप किसी भी टोल फ्री नंबर पर कॉल करके शिकायत दर्ज करवाते हैं तो यह भी 15 से 30 दिन का समय लेता है

इसके बाद ही आपके शिकायत का निवारण किया जाता है पर हमने देखा है कि कई बार ऐसा होता है कि शिकायतों का निवारण नहीं होता है तो आपको ऑनलाइन ही शिकायत दर्ज करवानी चाहिए जिससे आपको जल्द ही इसका नतीजा देखने को मिले

ग्राम प्रधान के कार्य लिस्ट 2022


यदि अगर आप अपनी ग्राम पंचायत के किसी भी सरपंच या ग्राम प्रधान की वार्ड पंच या अपनी ग्राम पंचायत के सचिव ( ग्राम विकास अधिकारी ) के खिलाफ अगर किसी भी प्रकार की शिकायत करना चाहते हैं तो आपके पास ग्राम प्रधान के कार्य की लिस्ट 2022 होनी आवश्यक है क्योंकि अगर आपके पास ग्राम प्रधान के कार्य की लिस्ट अगर नहीं है तो आपकी शिकायत रद्द की जा सकती हैं


क्योंकि बिना कार्य की जानकारी कि आप किसी भी ग्राम विकास अधिकारी यह सरपंच के खिलाफ शिकायत दर्ज नहीं करवा सकते हैं और इसमें सरपंच से सचिव को इसलिए जोड़ा जाता है क्योंकि ग्राम में जो कार्य होते हैं वह गांव का सरपंच या ग्राम पंचायत का ग्राम प्रधान करवाता है और इस को मंजूरी सचिव या ग्राम विकास अधिकारी देता है


इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको ग्राम प्रधान शिकायत नंबर ( ग्राम प्रधान की शिकायत कैसे करें ) Gram pradhan ki shikayat kaise karen अपने ग्राम पंचायत के सरपंच की शिकायत कैसे करें किस तरह से आप ग्राम पंचायत के खिलाफ आरटीआई लगा सकते हैं ग्राम पंचायत का बजट कैसे देख सकते हैं सरपंच की शिकायत कैसे कर सकते हैं इन सभी प्रकार के प्रश्नों का जवाब इस पोस्ट के माध्यम से दिया है

Post a Comment

0 Comments