सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के नियम | sarpanch ke khilaf avishwas prastav

नमस्कार दोस्तों आज हमने आपको ग्राम पंचायत के सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव या ग्राम प्रधान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव कैसे लगा सकते है या सरपंच को हटाने के नियम (Sarpanch ko pad se hatane ke niyam ) इसकी सम्पूर्ण जानकरी दी है यदि आप भी Gram Panchayat के sarpanch ke khilaf avishwas prastav ( Gram Pradhan ke khilaf avishwas prastav ) लगाना चाहते है तो आपको इस आर्टिकल को पढ़ सकते है |

सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के नियम
sarpanch ke khilaf avishwas prastav

सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के नियम

नमस्कार दोस्तों आज हम सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव कैसे लगाया जा सकता है किस तरह से लगाया जाता है और कौन सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लगा सकता है इसके बारे में जानकारी देखने वाले हैं क्योंकि हम सभी को पता है

सभी ग्राम पंचायत के सरपंच एक जैसे नहीं होते हैं ग्राम पंचायत के सरपंच लोगों के लिए नहीं बल्कि खुद के लिए जीते हैं गांव में चाहे पक्की सड़क ना हो पर उनके पास फॉर्च्यूनर कार या बड़ी लग्जरी गाड़ियां जरूर होती है तो आप ऐसे सरपंच के खिलाफ सरपंच को हटाने के नियम आराम से लगा सकते हैं

sarpanch ke khilaf avishwas prastav


तो अब हम आज इस आर्टिकल के माध्यम से ऐसे सरपंच जो गांव के हित के लिए कार्य नहीं करते हैं गांव में जो बजट आता है जो पैसा आता है वह गांव में कार्य को लेकर खर्च न कर के खुद के लिए खर्च करते हैं इस तरीके के सरपंच को किस तरह से हटाया जा सकता है इसको लेकर हम आपको सारी जानकारी बताने वाले हैं जिससे आप अपने गांव का प्रधान या कहे तो सरपंच या उपसरपंच को हटा सकते हैं


जानिए कौन नहीं हटा सकता है ग्राम पंचायत के सरपंच को


ग्राम पंचायत के सरपंच को गांव का कोई भी एक नागरिक अपनी खुद की मर्जी से या अपनी दुश्मनी निकालने के लिए कभी भी किसी भी सरपंच या ग्राम प्रधान को नहीं हटा सकता क्योंकि हर गांव में हर सरपंच का कभी न कभी किसी भी व्यक्ति से मनमुटाव तो होता ही है तो कोई एक व्यक्ति किसी भी ग्राम पंचायत के सरपंच को नहीं हटा सकता है तो आपको इस बात का ध्यान रखना है


तो अब आप यह सोच रहे होंगे तो आखिर कौन है जो हमारे ग्राम प्रधान को या सरपंच को हटा सकता है क्योंकि कोई व्यक्ति अगर ग्राम पंचायत के सरपंच को नहीं हटा सकता है तब कौन हटा सकता है तो आखिर किसके पास इतना पॉवर होता है जिससे वह सरपंच को हटा सकता है तो आपको इसकी जानकारी आपको बारीकी से अंत तक इस पोस्ट को पढ़ने के बाद ही आपको पता चलेगी


क्योंकि ऐसे कई Gram panchayat के नियम है जो एक ग्राम प्रधान या ग्राम पंचायत के सरपंच को हटाने के लिए आवश्यक हैं और उन नियमो को पूरा करना भी बेहद जरूरी है अगर आप उनमें से एक भी नियम को पूरा नहीं करते हैं तो आप कभी भी किसी भी सरपंच को कभी भी पद से नहीं हटा सकते हैं चाहे आपके साथ पूरा गांव एक साथ वोट क्यों नहीं करें


वार्ड पंच दे सकते हैं अविश्वास प्रस्ताव


यदि आप अपने ग्राम पंचायत के सरपंच या ग्राम प्रधान को हटाना चाहते हैं तो आपको इस उदाहरण को समझना बेहद जरूरी है जैसे - मान लीजिए आपकी ग्राम पंचायत में 1000 लोग रहते हैं और आप अपने ग्राम पंचायत का जो सरपंच है ( ग्राम प्रधान ) या उपसरपंच है उन्हें हटाना चाहते हैं 


तो आप के ग्राम पंचायत के लगभग 75% से अधिक लोग ( 75% से कम नही ) आपकी तरफ ( सरपंच या ग्राम प्रधान के खिलाफ ) होने आवश्यक हैं अगर ऐसा होता है तो आप अपने ग्राम पंचायत के सरपंच को पद से हटा सकते हैं अन्यथा नही हटा सकते हैं |


अब आपको सबसे पहले जो यह समझना है कि अब 75% लोग जो हम कह रहे हैं क्या हमें हमारे ग्राम पंचायत के सभी 75% से अधिक लोगों के हस्ताक्षर अविश्वास प्रस्ताव पर लेने होंगे तो ऐसा नहीं है आपको यह ध्यान रखना है कि पूरे गांव के जो 75% से अधिक लोग हैं उनके साइन आपको सरपंच को हटाने के लिए नहीं लेने मान लीजिए आपकी ग्राम पंचायत में 10 वार्ड पंच या मेंबर ( वार्ड सदस्य ) हैं 


तो सरपंच को हटाने के लिए तकरीबन 8 वार्ड पंच अगर सरपंच के खिलाफ यदि अविश्वास प्रस्ताव अगर जिला पंचायती राज अधिकारी के पास देते हैं तो उस ग्राम पंचायत के ग्राम प्रधान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित हो जाएगा


प्रधान को हटाने की प्रक्रिया


अब आपकी ग्राम पंचायत के सरपंच को 10 दिन के भीतर बताया जाएगा कि आप के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आया है और आपकी ग्राम पंचायत के वार्ड पंच या ग्राम पंचायत के लोगों ने आप के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव दिया है और ग्राम पंचायत की सूचना बोर्ड पर एक तारीख लिखी जाएगी


जिस तारिक पर ग्राम पंचायत में वार्ड पंच की वोटिंग की जायेगी जहां पर अविश्वास प्रस्ताव सम्बंधित वोटिंग होगी जिसमें यह पता चलेगा कि आपकी ग्राम पंचायत या अविश्वास प्रस्ताव जिस भी ग्राम पंचायत के सरपंच के खिलाफ या कहे ग्राम प्रधान के खिलाफ हुआ है वह अपने सरपंच पद पर रहेगा या नहीं 


Sarpanch ko pad se hatane ke niyam


ग्राम पंचायत के लोगों के द्वारा सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव देने की बात तकरीबन 30 दिन के भीतर जिला पंचायत अधिकारी के द्वारा एक बैठक बुलाई जाती हैं जिसमें सभी वार्ड पंच एवं सरपंच की वोटिंग करवाई जाती हैं जिसमें सरपंच भी अपना एक वोट अपने पक्ष में देता है तो आपको यह ध्यान रखना है कि अब अगर आपकी ग्राम पंचायत में 10 वार्ड पंच हैं तो अब आप के ग्राम पंचायत में जो वोटिंग होगी वह 11 वोट पर होगी तो यदि सरपंच के खिलाफ तीन चौथाई वोटिंग वार्ड पंचों के द्वारा नहीं की जाती है तो वहां ग्राम पंचायत का सरपंच या ग्राम प्रधान अपने पद से नहीं हटेगा


जैसे कि अब 11 वोट (10 वार्ड पंच + एक सरपंच) में आपकी मान लो ग्राम पंचायत के चुनाव हुए तो सरपंच के खिलाफ या अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 8 वोट होने आवश्यक है यदि एक भी वोट सरपंच के पक्ष में या अविश्वास प्रस्ताव के विपक्ष में डाला जाता है तो सरपंच अपने पद से नहीं हटेगा और यदि अगर सरपंच के खिलाफ 8 वोट अगर डाले जाते हैं तो सरपंच अपने पद से तुरंत ही बर्खास्त किया जाएगा


Note - अविश्वास प्रस्ताव एक बार ही दिया जाता है


सरपंच को हटाने की प्रक्रिया


जैसे ही सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव दिया जाता है और वह सरपंच हार जाता है तो तुरंत 5 मिनट के अंदर ग्राम पंचायत के सूचना बोर्ड पर जिला पंचायती राज अधिकारी के द्वारा हस्ताक्षर किए गए जानकारी या नोटिस पत्र जारी किया या लगाया जाता है जिसमें जिस ग्राम पंचायत का जो सरपंच है उसको किस कारण वंश और कितने वोट से हारा है और उसको हटाने की तारीख के साथ सूचना लिखी हुई आपको देखने को मिल जाएगी


सरपंच को हटाने के नियम


सरपंच के हटने के बाद 6 माह तक उस वार्ड पंच में से एक वार्ड पंच उस ग्राम पंचायत का सरपंच या ग्राम प्रधान बनता है और कभी कभी उस ग्राम पंचायत का उप सरपंच सरपंच का पद 6 माह तक संभालता है इसके बाद अगले चुनाव सरपंच के पद के लिए किए जाते हैं जो 6 माह के बाद करवाए जाते हैं जिसमें ग्राम पंचायत के सभी मतदाता वोट कर कर अपना सरपंच चुनते हैं


ग्राम प्रधान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव चुनाव के कितने समय बाद लाया जा सकता है


कई लोग यह सोचते हैं ग्राम प्रधान की वोटिंग होने के 1 दिन बाद किसी भी ग्राम प्रधान या सरपंच को हटाया जा सकता है ऐसा नहीं है पंचायती राज अधिनियम के अंतर्गत किसी भी ग्राम प्रधान या सरपंच को कभी भी 2 साल से पहले कोई भी पंचायती राज अधिकारी नहीं हटा सकता और ना ही अविश्वास प्रस्ताव किसी भी सरपंच के खिलाफ लग सकता है


यदि आप यह सोच रहे हैं कि सरपंच चुनाव होने के एक दिन बाद ही हम किसी भी सरपंच को हटा सकते हैं तो ऐसा कोई भी सरकारी नियम नहीं है ना ही पंचायती राज का कोई नियम है तो आपको इस बात का ध्यान रखना है कि 2 वर्ष के बाद ही ग्राम प्रधान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लग सकता है और कभी-कभी तो 2 वर्ष से ज्यादा भी लग सकता है


ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत नंबर - How to Complain Gram Pradhan


जैसा कि हम सभी जानते हैं कि ग्राम प्रधान सभी ग्राम पंचायतों में एक जैसे नहीं होते हैं कई ऐसे ग्राम प्रधान होते हैं जो अपने गांव का भला करते हैं और कई ऐसे ग्राम प्रधान होते हैं जो खुद का ही भला करते हैं तो ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत के लिए कई लोग जो होते हैं वह शिकायत नंबर को लेकर हमेशा से यह जानना चाहते हैं कि ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत कैसे कर सकते हैं 


तो आपको बता दें कि आप 2 तरीके से ग्राम प्रधान या सरपंच के खिलाफ शिकायत कर सकते हैं जैसे पहले में आप www.planningonline.gov.in  से कर सकते हैं और दूसरे में आप सीधे फोन लगाकर कर सकते हैं तो अगर आप ग्राम प्रधान के खिलाफ शिकायत करना चाहते हैं तो आप 1074 नंबर पर फोन करके अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं


सरपंच को हटाने के नियम rajasthan


जैसा कि हमने आपको बताया है कि आप सरपंच को पद से कैसे हटा सकते हैं तो अगर आप राजस्थान में निवास करते हैं और आप अगर अपने ग्राम पंचायत के सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लगाते हैं ऊपर बताए गए अनुसार आप सभी सरपंच को हटाने के नियम rajasthan को पूरा करते हैं तो आप अपने ग्राम पंचायत सरपंच को राजस्थान के किसी भी कोने में रहते हुए सरपंच को हटा सकते हैं यह नियम राजस्थान में भी यही है मध्यप्रदेश में भी यही है और भारत के सभी राज्यों में एक जैसे ही है पर इसमें थोड़ा बहुत बदलाव होता है जो ज्यादा मायने नहीं रखता है


सरपंच के कार्य की लिस्ट


यदि आपको यह जानकारी नहीं है ग्राम प्रधान सरपंच के कार्य क्या है तो हम आपको सभी कार्यों के बारे में संक्षिप्त जानकारी देने वाले हैं जिससे आपको यह पता चल सकेगा कि आपके गांव में जो कार्य हुए हैं वह किसके द्वारा करवाए गए हैं


सबसे पहले आपको यह जानकारी बता दें कि गांव में जो भी कार्य करवाए जाते हैं चाहे वह नव निर्माण कार्य को या फिर मरम्मत करण का कार्य हो वह ग्राम पंचायत के कार्य के अंतर्गत आता है जाने कि अगर हम यह कहें कि ग्राम पंचायत के कार्य हुए हैं तो वह सरपंच के द्वारा किए जाते हैं और आपको यह ध्यान रखना है 


कि जो भी ग्राम पंचायत का सरपंच है वह खुद इस कार्य को नहीं कर सकता है मान लीजिए आपके गांव में नाली निर्माण का कार्य है तो वह नाली निर्माण का कार्य आपका सरपंच अपने ठेके पर काम नहीं कर सकता है उसको किसी दूसरे कारीगर को यह दूसरे किसी भी कांट्रेक्टर को देना जरूरी है


ग्राम पंचायत के कार्य


जिसे हम सरपंच के कार्य से भी जानते हैं जिन्हे हम ग्राम पंचायत के कार्य आते हैं तो अगर आपको कोई यह कहे कि ग्राम पंचायत के कार्य या सरपंच के कार्य अलग-अलग होते हैं तो ऐसा नहीं होता है और आपके ग्राम पंचायत में जो कार्य होते हैं उसको ऑनलाइन या ऑफलाइन चढ़ाने का कार्य ग्राम पंचायत सचिव करता है जिसे हम विलेज डेवलपर ऑफिसर के नाम से भी जानते हैं


  1. ग्राम पंचायत में नाली निर्माण कार्य 

  2. ग्राम पंचायत के सभी धर्मों के लोगों के लिए दाह संस्कार या कब्रिस्तान का निर्माण करवाना

  3. गांव में पेयजल की व्यवस्था करना

  4. गांव में सड़क निर्माण या सड़क का नवीनीकरण करना

  5. गांव के किसी भी टूटे हुए पुल मरमत या नव निर्माण करवाना 

  6. गांव के गरीब बच्चों के लिए निशुल्क शिक्षा की व्यवस्था करवाना

  7. ग्राम पंचायत के किसानों के लिए सिंचाई के लिए पाइप लाइन की व्यवस्था करवाना

  8. गांव में खेल मैदान बनवाना और लोगों को खेल के प्रति जागरूक करना 

  9. गांव के लोगों के लिए रोजगार की व्यवस्था करना या मनरेगा योजना को सुचारू रूप से चलाना 

  10. ग्राम पंचायत में आंगनवाड़ी केंद्र को चलाने को लेकर व्यवस्था करना


अपनी जमींन का नक्शा देखने के लिए यहाँ 👉 Click करे

हमारे ग्राम प्रधान के ऐसे कई और कार्य हैं जिसको हम इस आर्टिकल के माध्यम से पूरा आपको नहीं बता सकते हैं पर ऐसे कई कार्य हैं जो हमारे 

ग्राम प्रधानकरते हैं और इसको लेकर हम एक और आर्थिक आपको लिखकर बताएंगे कि हमारा जो ग्राम प्रधान होता है या सरपंच होता है उसके मुख्य कार्य क्या होते हैं और उसको कितना बजट उन कार्य को लेकर मिलता है


सरपंच के कार्य और अधिकार


यदि हम सरपंच के कार्य और अधिकार की बात करें तो वह राजस्थान में खोया मध्यप्रदेश में हो उत्तर प्रदेश में हो महाराष्ट्र में हो या फिर गुजरात में हूं सभी जगह पर सभी राज्यों में या कहे तो पूरे भारत में सरपंच के कार्य और अधिकार एक समान होते हैं इसमें कोई भी किसी भी प्रकार से परिवर्तन नहीं होता है तो अगर आप यह सोच रहे हैं सरपंच के कार्य और अधिकार राजस्थान में भी अलग होते हैं मध्यप्रदेश में भी अलग होते हैं या सरपंच के कार्य उत्तर प्रदेश में अलग होते हैं तो यह गलत है


आपके द्वारा पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न


ग्राम पंचायत में सरपंच का क्या काम होता है

यदि आपको यह जानकारी नहीं है कि ग्राम पंचायत में सरपंच का क्या काम होता है तो आपको बता दें ग्राम पंचायत का जो सरपंच या ग्राम प्रधान होता है वह ग्राम पंचायत को सुचारू रूप से चलाने का कार्य करता है जिसे हम समझ सकते हैं कि किसी भी घर को चलाने के लिए किस तरह से उस घर का मुखिया होता है यह कहे तो उस परिवार का बड़ा सदस्य होता है उसी तरह से 1 ग्राम पंचायत को चलाने एक ग्राम प्रधान या सरपंच को नियुक्त किया जाता है वह ग्राम पंचायत में होने वाले सभी कार्य सरपंच के द्वारा किए जाते हैं


ग्राम पंचायत का बजट कैसे देखें

सभी ग्राम पंचायत में बजट एक समान ही होता है पर उसका उपयोग कैसे करना है वह उस ग्राम पंचायत पर निर्भर करता है यानी कि अगर मान लीजिए आप राजस्थान में निवास करते हैं तो आपके ग्राम पंचायत में जो बजट आता है वह आप प्लान प्लस की वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं कि आपकी ग्राम पंचायत में कितना बजट आया है कितना बजट खर्च किए गए हैं किस योजना को लेकर खर्च किया गया है सब कुछ 


ग्राम पंचायत का बजट कितना होता है

अगर हम 1 ग्राम पंचायत में 1 वर्ष के अंदर कितना बजट आता है यह जानना चाहते हैं तो आपको बता दें और ग्राम पंचायत में 1 साल के अंतराल में तकरीबन मनरेगा के तहत एक करोड़ का बजट आता है और वह बजट उस गांव की तरक्की या उस गांव में रोजगार देने का कार्य करता है यह कभी-कभी ग्राम पंचायत का बजट एक करोड़ से लगाकर  10 करोड़ भी चला जाता है तो यह ग्राम पंचायत का जो बजट होता है खर्च करने पर निर्भर करता है | 


ग्राम प्रधान की जांच कैसे करें

यदि आप अपने ग्राम प्रधान की जांच करवाना चाहते हैं कि उसने क्या-क्या आपकी ग्राम पंचायत में कार्य किए हैं तो इसके लिए आपको आरटीआई लगाना होगा जिसे हम सूचना का अधिकार भी कहते हैं या फिर आप गवर्नमेंट की ऑफिशियल वेबसाइट से भी यह देख सकते हैं कि आपकी ग्राम पंचायत में किस योजना को लेकर किस कार्य को लेकर कितना पैसा आया है कितना पैसा निकाला गया है कितना बजट उसमें इस्तेमाल किया गया है सभी जानकारियां आपको वहां पर मिल जाएगी और इसके बाद आप अपने ग्राम प्रधान की जांच करवा सकते हैं 


सरपंच के कार्य की लिस्ट 2022

यदि आप अपने सरपंच के कार्य की लिस्ट 2022  निकालना चाहते हैं तो आपको सूचना के अधिकार का नियम का उपयोग करना होगा जिसे मैं पहले ग्राम प्रधान की जांच कैसे करें मैं आपको बता चुका हूं इस नियम का उपयोग करने के बाद आप अपने ग्राम पंचायत के सरपंच के कार्य की लिस्ट आसानी से मात्र ₹30 में निकलवा सकते हैं यह चार्ज आपके द्वारा मांगे गए सरपंच के कार्य लिस्ट की फोटो प्रिंट का होता है


यह भी पढ़े


👉 Pm Kisan Samman Nidhi Yojana


👉 सरपंच को हटाने के नियम


👉 sarpanch ko pad se kaise hataye web web story

इस पेज के माद्यम से ग्राम पंचायत के सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव या फिर ग्राम प्रधान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव किस तरह से लगा सकते है सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लगाने का नियम क्या है सरपंच को पद से कैसे हटाये इन सभी जुडी जानकारी दी गई है - Sarpanch ko pad se hatane ke niyam / Gram Pradhan ke khilaf avishwas prastav - सरपंच को हटाने के नियम



Post a Comment

0 Comments